You are currently viewing Nettle Leaf(बिच्छू घास) के औषधीय गुण

Nettle Leaf(बिच्छू घास) के औषधीय गुण

Nettle leaf(बिच्छू घास) के औषधीय गुण 

Nettle leaf अर्थात बिच्छू घास , एक प्रकार का पौधा है जिसको स्पर्श करने पर हमें एक तेज झनझनाहट महसूस होती है| इसमें मौजूद काँटों को छूने से  त्वचा में सूजन और तेज दर्द होता है | यह पौधा भारत के अलावा अन्य देशों में भी पाया जाता है | भारत के उत्तराखंड राज्य में इसकी प्रजाति अधिक पायी जाती  है | बिच्छू घास पर्वतीय क्षेत्रों में पाया जाता है , जिसके अपने अलग औषधीय गुण हैं | इसका प्रयोग मूत्र सम्बन्धी कई समस्याओं , प्रोस्टेट कैंसर और जोड़ों तथा हड्डी रोगों में किया जाता है|Nettle leaf

पहाड़ी क्षेत्रों में बिच्छू घास का प्रयोग 

उत्तराखण्ड और अन्य पहाड़ी इलाकों में बिच्छू घास की सब्जी और चटनी भी बनायीं जाती है | महिलाओं में प्रजनन के बाद से कई प्रकार की गर्भाशय से जुडी समस्याएं हो जाती हैं |इसमें प्रमुख हैं गर्भाशय में सूजन , रसौली , मूत्र मार्ग में संक्रमण आदि |  बिच्छू के पत्तों के रस निकालकर इसके  सेवन से इन परेशानियों से छुटकारा मिलता है | इसके अलावा कमर दर्द और घुटनों के दर्द में भी इसके पत्तों से सिकाई करने से तेज दर्द में आराम मिलता है | इसके साथ गाँवों में  नकारात्मक  शक्तिओं  जैसे छल के प्रवेश को रोकने के लिए भी इसके पत्तों को साथ में रखा जाता है |

अन्य लाभ-

1.  ग्रामीण इलाकों में शरारती बच्चों को सुधारने के लिए भी इसे  प्रयोग किया जाता है |

इसलिए ये बाल सुधार औषधि  कही जाती है |

2 . विदेशों में भी दवाओं के निर्माण के लिए इस बिच्छू घास की खेती की जाती है |

3 . बिच्छू के पौधे में पालक की भांति   “आयरन” की भरपूर मात्रा होती है| इसलिए इसकी सब्जी स्वास्थ्यवर्धक होती है |

4 .  इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं , इसलिए इसकी सब्जी और चटनी हमारे पेट की कई समस्याओं जैसे अपच , कब्ज आदि को दूर करती है |

5 . माँसपेशियों तथा जोड़ों के दर्द के लिए ये एक रामबाण औषधि है | शरीर में कोई गुमचोट होने पर इसके पत्तों के स्पर्श से या पीसकर लेप लगाने से आराम मिलता है |

6. इसके पत्तों से बनी चाय की विदेशों में काफी मांग है | इससे ब्लड प्रेसर भी कंट्रोल रहता है | और साथ साथ आंतरिक पित्त विकारों में भी ये फायदेमंद है |

7 . इसकी जड़ का प्रयोग पथरी में होता है | गुर्दे की पथरी में इसकी जड़ के  चूर्ण का पानी के साथ सेवन करने से फायदा होता है | इसके पत्तों की चाय पीने  से पेशाब संबंधी समस्या दूर हो जाती है |

8 . महिलाओं में श्वेत प्रदर और रक्त प्रदर की समस्याओं में भी इसके पत्तों को उबालकर काढ़ा बनाकर सेवन करने से लाभ होता है |

9 . मालिश तेलों में भी इसका प्रयोग किया जाता है , जिससे बदन दर्द कमर दर्द आदि में आराम मिलता है |

10 . वैज्ञानिक शोध के अनुसार बिच्छू के पौधे से रेशे या धागे बनाये जा सकते हैं  जिससे अच्छी गुणवत्ता वाले जैकेट्स बनाये जा सकते हैं | स्वरोजगार के लिए तथा handloom products  की अत्यधिक मांग के चलते इसका प्रयोग किया जा सकता है |

11 . शरीर में रक्त प्रसार  (blood circulation ) को नियमित करने के लिए भी इसकी पत्तों की ग्रीन टी काफी फायदेमंद है |

12 . ग्रामीण क्षेत्रों में गठिया रोग और शरीर में अकड़न से होने वाले दर्द में इसका प्रयोग किया जाता है | इसके अलावा इसको जानवरों के लिए चारे के रूप में  भी उपयोग किया जाता है |

I hope, you will like to read the information about Nettle leaf.

Also, read

Impacts of overthinking in our life

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply